भ्रष्टाचार है - तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर पेश करना, कानून की अवहेलना, योग्यता के मुकाबले निजी पसंद को तरजीह देना, रिश्वत लेना, कामचोरी, अपने कर्तव्य का पालन न करना, सरकार में आज कल यही हो रहा है. बेशर्मी भी शर्मसार हो गई है अब तो.

Wednesday, October 22, 2008

एक चुटकुला नेट से

शादी से पहले : 


प्रेमी: हाँ. आखिरकार, इतनी देर से इंतज़ार कर रहा था. 

प्रेमिका: क्या मैं चली जाऊं? 

प्रेमी: नहीं! ऐसा सोचना भी मत.

प्रेमिका: क्या तुम मुझे प्रेम करते हो? 

प्रेमी: हां! बहुत ज्यादा!

प्रेमिका: क्या तुमने मुझे कभी धोका दिया है?

प्रेमी: नहीं! तुम यह पूछ भी क्यों रही हो?

प्रेमिका: क्या तुम मेरा चुम्मन लोगे?

प्रेमी: हर बार, अगर मौका मिला तो. 

प्रेमिका: क्या तुम मुझे मारोगे?

प्रेमी: क्या तुम पागल हो! मैं उस तरह का इंसान नहीं हूँ!

प्रेमिका: क्या मैं तुम पर विश्वास कर सकती हूँ?

प्रेमी: हां.

प्रेमिका: प्रिय!


शादी के बाद

सिर्फ इसे फिर से नीचे से ऊपर की तरफ पढ़े...... :)

Get your website at top in all search engines
Contact Rajat Gupta at
9810213037, or
Go to his site

For free advice on management systems - ISO 9001, ISO 14001, OHSAS 18001, ISO 22000, SA 8000 etc.
Contact S. C. Gupta at 9810073862
e-mail to qmsservices@gmail.com
Visit http://qmsservices.blogspot.com